Opinion
अपनी स्वछंद सनक की स्लेव हैं श्रीमोई जैसी महिलावादी
अपनी स्वछंद सनक की स्लेव हैं श्रीमोई जैसी महिलावादी

श्रीमोई जैसी सभी कथित महिलावादियों का हिन्दूधर्म में नारी की स्थिति को ‘सेक्स स्लेव’रूप में वर्णन करना केवल उस ओछी स्वछंदता भरी “माय बॉडी माय चॉइस” वाली कुंठा की झलक है