Commentary
तीन तलाक की नाजायज जिद और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के बचकाने तर्कों वाला हलफनामा !
तीन तलाक की नाजायज जिद और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के बचकाने तर्कों वाला हलफनामा !

यह कामेडी है या ट्रेजेडी? या शायद एक साथ दोनों है! तीन तलाक़ पर मुसलिम पर्सनल लॉ बोर्ड का हलफ़नामा कूढ़मग़ज़ी और नितान्त बचकाने तर्कों का एक शाहकार दस्तावेज़ है!

Analysis
How Does The Government Send Greetings?- RTI Query
How Does The Government Send Greetings?- RTI Query

Hilarious and unusual to strike in someone's mind but this is a reality and is one of such queries which have asked in RTI applications

Prime Story
Matter-Of-Fact: The Reluctance By State Govts For Police Reforms
Matter-Of-Fact: The Reluctance By State Govts For Police Reforms

Even after the firm verdict by the apex court to establish of Police Complaint Authorities, the states are hesitant to comply with it.

Analysis
It’s Not Lack of Judges; the System is Rotten
It’s Not Lack of Judges; the System is Rotten

Chief justice of India’s lament over fewer judges is understandable; but is it the real cause of the endemic disease afflicting the Justice Delivery System in the country?

Opinion
यूनिफार्म सिविल कोड से क्यों डरें ?- कमर वहीद नकवी
यूनिफार्म सिविल कोड से क्यों डरें ?- कमर वहीद नकवी

जो बहस पचास-साठ साल पहले ख़त्म हो जानी चाहिए थी, हम आज तक उसे शुरू ही नहीं कर पाये हैं!

Prime Story
भारी खर्च के बोझ तले दबा आपका अधिकार
भारी खर्च के बोझ तले दबा आपका अधिकार

लोकतंत्र के सबसे मजबूत स्तम्भ न्यापालिका का पहले पारदर्शी होना जरूरी. दरकार है कई आमूलचूल परिवर्तन करने की.